कर्म और धर्म

डॉ. जीवराज मेहता गांधीजी के निजी चिकित्सक और सहयोगी थे। गांधीजी के विचारों का उन पर गहरा असर था। एक बार वह गांधीजी के साथ बड़ौदा से इलाहाबाद पहुंचे। गांधीजी के आने की सूचना पहले से थी इसलिए स्टेशन पर कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ जमा थी। गांधीजी के हाथ खाली थे मगर मेहता जी के हाथ में एक अटैची थी। ट्रेन से उतरते ही एक कार्यकर्ता आगे बढ़ कर मेहता जी के हाथ से अटैची लेने लगा। मेहता जी ने उसे मना कर दिया। उसी समय मेहता जी की नजर एक अधेड़ महिला पर पड़ी, जिसकी गोद में एक छोटा बच्चा था। वह दूसरे हाथ से एक बक्सा संभाले हुई थी। उसे चलने में बहुत कठिनाई हो रही थी।

मेहता जी भीड़ को धक्का देते हुए उस महिला के पास पहुंचे और बोले, ‘बहन, आप को बहुत दिक्कत हो रही है। यह बक्सा मुझे दे दो। मैं आपको स्टेशन के बाहर तक छोड़ देता हूं।’ वह महिला संकोच करने लगी। उसे असमंजस में देख कर मेहता ने कहा, ‘घबराओ नहीं। मैं कोई चोर-उचक्का नहीं हूं। तुम्हारा सामान कहीं नहीं जाएगा।’ महिला ने अपना बक्सा मेहता जी को पकड़ा दिया। तब तक दूसरे लोग भी वहां आ गए। एक कार्यकर्ता मेहता जी के हाथ से बक्सा लेने लगा तो वह बोले, ‘यह बहुत हल्का है। मुझे कोई परेशानी नहीं हो रही है। तुम लोग उसकी मदद करो जिसको तुम्हारी मदद की जरूरत है। असहायों की सेवा करना ही हमारा कर्म और धर्म है।’ सब मेहता जी के व्यवहार से बेहद प्रभावित हुए।

संकलन: सुरेश सिंह
नवभारत टाइम्स में प्रकाशित

pryas, प्रयास, यह भी खूब रही, yah bhi khoob rahi, नरेश का ब्लौग, प्रयास का ब्लौग, pryas ka blog, पुरानी कहानीयाँ, purani kahaniyan, मयूर यूथ क्लब ब्लौग, मयूर यूथ क्लब, रामलीला ब्लौग, दिल्ली की रामलीला, कर्म और धर्म, डॉ. जीवराज मेहता, गांधीजी के निजी चिकित्सक, मदद करो, मदद की जरूरत, mayur youth club blog, ramlila blog, delhi ki ramlila, karam aur dharam, dr. jeevraaj mehta, gandhi ji ke niji chikitsak, madad karo, madad ki jaroorat, myc delhi, clubs in delhi, cultural club delhi

7 responses to “कर्म और धर्म

  1. गणेशचतुर्थी और ईद की मंगलमय कामनाये !
    बढ़िया लेख …

    इस पर अपनी राय दे :-
    (काबा – मुस्लिम तीर्थ या एक रहस्य …)
    http://oshotheone.blogspot.com/2010/09/blog-post_11.html

  2. there are so many events link with dr. and gandhiji well this is also one of tham.

  3. religion
    we can not move a single step without religion every thing is linked with it in general conversation with any one it is link some where and we do accordingly every one in india connect with it whether it may be any religion hindu ,sikh, or jainism and islam.early in the morning we start pray with god for better whole day .and our day end with god in the night before sleeping . and it is true that every work if we start with tha name of god it will be result oriented definetely .

  4. logo ko prernaa milegi. achha prayaas hai.

  5. महोदय,आपके websites में मौजूद कथाओं के द्वारा हम अपने छात्रों के शैक्षिक,सामाजिक,सांस्कृतिक,राष्ट्रीय एवं नैतिक मूल्यों के विकास हेतु आपकी उपदेश प्रेरक कथाएं व उनके संदर्भों का उपयोग अपने Hindi Reading Cards में करने के इच्छुक हैं । हम यह कार्य किसी प्रचार माध्यम या आर्थिक लाभ के लिए नहीं करना चाहते हैं अपितु शिक्षा हेतु करना चाहते हैं । मूल सूत्र कथा को छुए बगैर आंशिक रूप से छात्रों के स्तरानुसार इनमें परिवर्तन करेंगे ।
    बेसब्री से आपके लिखित अनुमोदन हेतु
    आपके निवेदक(पद्मजा,सुषमा,सरसवाणी- प्राथमिक शिक्षिकाएँ)
    केंद्रीय विद्यालय २- गोलकोंडा ( हैदराबाद)