लैंसडाऊन जा रहा हूँ

मुसाफिर भाई के साथ आज लैंसडाऊन जा रहा हूँ. दिल्ली से, मसूरी एक्सप्रैस द्वारा कोटद्वार तक जाएंगे. कोटद्वार से जीप द्वारा लैंसडाऊन तक का सफर तय किया जायेगा. वापिस आकर फोटो और यात्रा-वृतांत लिखुंगा.

तब तक इंतज़ार करें.

6 responses to “लैंसडाऊन जा रहा हूँ

  1. बहुत खूब! प्रतीक्षा रहेगी।

  2. apki baat sunkar mujhe bhi vahan ki yaad aayi aur foto chep daale.

  3. अजी वापिस नहीं आये क्या अभी? फोटो और वृत्तान्त कहाँ हैं?

  4. aage ki story ka wait h plz jhldi baki story bhi likh dijeyai or jldi vapas aa jaiye we misss you!

    • लैंसडौन की सैर – मुसाफिर के साथ भाग – 1 |   | |   | |   |   |   |   |   | | लैंसडौन की सैर – मुसाफिर के साथ भाग – 126 जुलाई शाम को कार्यक्रम तय हो चुका था कि 27 जुलाई को शाम साढे आठ बजे यमुना बैंक स्टेशन पर मुसाफिर जी (नीरज) से मिलना था. फिर वहाँ से पुरानी दिल्ली स्टेशन से मसुरी… | | | | View on pryas.wordpress.com | Preview by Yahoo | | | |   |

      लैंसडौन की सैर – मुसाफिर के साथ भाग – 2

      |   | |   | |   |   |   |   |   | | लैंसडौन की सैर – मुसाफिर के साथ भाग – 2लैंसडौन की सैर – मुसाफिर के साथ भाग – 1 हम कोटद्वार साढे छै: बजे पहुँच गये थे. कोटद्वार एक छोटा सा स्टेशन है. यहाँ से बाहर निकलते ही जीप मिल गई. चालीस रूपय किराया थ… | | | | View on pryas.wordpress.com | Preview by Yahoo | | | |   |

      लैंसडौन की सैर मुसाफिर के साथ – अंतिम भाग

      |   | |   | |   |   |   |   |   | | लैंसडौन की सैर मुसाफिर के साथ – अंतिम भागसंतोषी माता मंदिर में कुछ समय बिताने के बाद हम लौट चले. लौटते हुए एक नया सा रास्ता दिखा. हम दोनों ने काफी अटकलें लगाने के बाद उस रास्ते पर चलना शुरू कर दिया. कुछ ही… | | | | View on pryas.wordpress.com | Preview by Yahoo | | | |   |