Daily Archives: सितम्बर 25, 2008

बेटी

1.
बेटी
पेट में
सपने
सजा रही है,
माँ
ऑटो से
अबौर्शन के लिये
जा रही है

——————–

2.
बेटी के जन्म पर
सांत्वना देते हैं
लोग
जैसे देते हैं
किसी की
मौत होने पर
…”दुखी ना हो, भगवान को यही मंज़ूर था”

Advertisements